Header Ads

test

हमारी दिनचर्या कैसी होनी चाहिए और दैनिक जीवन में इसका क्या महत्व है ?

 दोस्तों आज जानते है कि हमें अपना दिन किस तरह बिताना चाहिए। हमें सुबह सूर्य के निकले से पहले उठना चाहिए । सुबह जल्दी उठने से हमारा स्वास्थ्य बिलकुल ठीक रहता है । हमें जल्दी उठ कर पहले नहा धोकर अच्छे दिन के लिए प्रार्थना करनी चाहिए । दोस्तों जब हम देर से उठते है तब स्व्य ही अपना आयुष्य और स्वास्थ्य नष्ट  करते है । 

           सुबह ब्रश करने से पहले शाम को तांबे के लोटे में रखा हुआ पानी या गर्म पानी पीना चाहिए । इस से सभी प्रकार के बेक्टीरिया और वाइरस समाप्त हो जाते है । बुखार कभी नहीं आता । खांसी, पित और त्रिदोष नष्ट हो जाते है । सिरदर्द, सुजाक, पागलपन, नकसीर और सूजन गायब हो जाती है । बल, बुद्धि बढ़ती है । सुबह जल्दी उठने वाले 90 % लोगों को कबजियात नहीं होता है । हमारे शरीर में कफ़ और पित होते ही है अगर वो लेवल में रहे तो कोई समस्या नहीं होती है । अगर वो लेवल के बाहर चली जाए तो कई बीमारियाँ आती है । इसका एक मात्र समाधान है कि सुबह जल्दी उठे सुबह के समय कफ़ प्रधान है जो वैलीय होता है । सुबह सूर्य उगने के बाद पित शुरू होता है । उसके पहले की कफ़ प्रधान समय में टायलेट ईजिली होता है । लेकिन आप जब 8 बजे के बाद जागते है तो तब पित का काम शुरू हो गया होता है । 

              ठंडा या सादा पानी जो अच्छा लगे वो पानी से स्नान करे । महीने में 2 या 4 बार तल या सरसिया के तेल से मालिश करके स्नान करना चाहिए । पूरे दिन में 10 से 15 मिनट तक का व्यायाम अति आवशक है । हर रोज़ शरीर में एक बार पसीना आए ऐसा काम जरूर करना चाहिए । हर रोज़ 50 सीढ़िया चढ़े । शाम को सोने से पहले 10 मिनट के लिए अपनी आँखें बंद करके 50 साँसे ले । शरीर के लिए सात - आठ घंटे की नींद जरूरी है नियमित रूप से सोए जिससे मन को मानसिक गति मिले । 

दैनिक जीवन में दिन चर्या का महत्व  

रविंदर नाथ टैगोर का कहना था नियमियत होना मन के लिए एक द्रढ़ अवलंबन है । हर रोज सुबह उठ जाना, व्यायाम, योग, स्नान, आराधना, स्वाध्याय और फिर अपने काम पर लग जाना नियमित दिनचर्या से जहां समय का सदुपयोग होता है, वहीं हम मानसिक और शारीरक रूप से संतुष्ट होते है । हमारा मानसिक संतोष ही हमें सुखी बनाता है । नियमित दिनचर्या से हमारे कार्य ना सिर्फ क्रमबद्ध और नियोजित होते है, बल्कि समाज में दूसरे लोगों पर उसका अच्छा और सकारात्मक प्रभाव भी पड़ता है । व्यक्ति का जीवन व्यस्त, मस्त तथा स्वस्थ रहता है । मानसिक रूप में संतुष्ट रहने के कारण मन शांत और प्रसन्न रहता है ।  

              इससे कार्य के प्रति निष्ठा और समय की भावना का विकास होता है । जिससे हमारे सुखों का विस्तार होता है । जिन व्यक्तियों की दिन चार्य उचित व नियमित होती है, उनके जीवन में सुख - शांति और संतोष की सुख भरी बदली से सदैव आनंद की वर्षा होती है, जबकि यदि दिनचर्या व्यवस्थित नहीं है तो एक और जहां मन मे अशांति उत्पन होती है वहीं मनुष्यों की समूची शारीरक क्रियाएं भी बिगड़ जाती है और व्यक्ति शारीरक और मानसिक रोगों से पीड़ित हो जाता है । हमारी दिनचर्या का प्रभाव हमारे मन - मस्तिषक पर पड़ता है । हमारी दिनचर्या के अनुसार, हमारा मन अपनी स्थिति और कार्यों को स्थापित करता है । आप भी अगर सुख - शांति चाहते है, तो अपनी दिनचर्या को नियमित बनाए । 

ऐसी होनी चाहिए असरदार दिनचर्या


दोसतों हमें अपने समय का सही इस्तेमाल करना चाहिए । हमें अपने कामों को बांटना चाहिए । हमें पहले जरूरी कामों का और बाद में गैर - जरूरी कामों का प्लान बनाना चाहिए । इसके लिए हमें टाइम टेबल बनाना बहुत जरूरी है । सबसे पहले आप यह जान ले कि हमें करना क्या है, जो हमारा जरूरी काम है क्या उन्हें करने के सभी साधन है आपके पास ? हमें टाइम टेबल बनाते समय या एक असरदार दिनचर्या बनाते वक़्त कुछ बातों का ध्यान रखना होगा । 

1. हमारा टाइम टेबल फ्लैक्सिब्ल होना चाहिए ताकि अचानक से आप किसी काम के लिए भी समय निकाल सके ।  
2. हमें समय-समय देखते रहना चाहिए कि टाइम टेबल हमारे लिए क्या काम कर रहा है या नहीं । इस में हम जरूरी फ़ेर - बदल भी कर सकते है । 
3. हमारे खाने और सोने का वक़्त बंधा होना चाहिए, क्योंकि इसके बिना और कोई काम नहीं हो पाएगा । 
4. आपके दोस्तों और घरवालों को आपके टाइम टेबल के बारे में पता होना चाहिए ताकि वो आपको डिस्टर्ब ना करे । 
5. कुछ समय एकसेरसाइज़ और खेलों के लिए भी निकाले । 
6. कुछ समय अपने लिए और अच्छी किताबे पड़ने के लिए भी निकाले । 
 

स्वस्थ रहने के लिए हमें क्या करना चाहिए :-

हमें स्वस्थ रहने के लिए रोजाना एकसेरसाइज़ करनी चाहिए । क्योंकि आज कल की भागदोड़ की ज़िंदगी में इंसान इतना व्यस्त हो चुका है उसे अपने स्वास्थ्य के प्रति ध्यान देने का भी समय नहीं मिलता । इसी लिए आज हम बीमारियों का शिकार होते जा रहे है । हम एकसेरसाइज़ से अपने शरीर को हेलथी और फिट रख सकते है । हमें फिट रहने के लिए यह उपाय करने चाहिए :-
 
1. एक ही समय पर एकसेरसाइज़ करे। 
2. अपना पसंदीदा एकसेरसाइज़ करे। 
3. किसी के साथ वर्कआउट करे ।

 

No comments